ट्रैक्टर जंक्शन ने सीड फंडिंग में जुटाए 57 लाख डॉलर, इन्फो एज वेंचर्स तथा ओमनीवोर ने किया निवेश

ट्रैक्टर जंक्शन नए और पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण और ग्रामीण कमर्शियल वाहनों की खरीद बिक्री फाइनेंसिंग और बीमा का डिजिटल मार्केटप्लेस है। यह कृषि मशीनरी पर जरूरी सूचनाएं और समीक्षा उपलब्ध कराने के अलावा यूजर्स को विभिन्न विकल्पों में तुलना करने और कीमतों में पारदर्शिता लाने में मदद करती है

ट्रैक्टर जंक्शन ने सीड फंडिंग में जुटाए 57 लाख डॉलर, इन्फो एज वेंचर्स तथा ओमनीवोर ने किया निवेश

ग्रामीण क्षेत्र में इस्तेमाल होने वाले वाहनों का मार्केटप्लेस ट्रैक्टर जंक्शन ने सीड फंडिंग के रूप में 57 लाख डॉलर जुटाए हैं। इन्फो एज वेंचर्स और ओमनीवोर ने कंपनी में निवेश किया है। इनके अलावा कंपनी के पुराने निवेशकों एजी फंडर ग्रो इंपैक्ट फंड तथा रॉकस्टार एग्रीफूड फंड ने भी पैसा लगाया है। एंजेल निवेशक विक्रम चोपड़ा और मेहुल अग्रवाल ने भी ट्रैक्टर जंक्शन में निवेश किया है। यह दोनों कार्स 24 के सह संस्थापक हैं। मुरुगप्पा ग्रुप के वेल्लयन सुब्बैया और अरुण वेंकटचलम तथा संजीव रनग्रास ने भी पैसा लगाया है।

ट्रैक्टर जंक्शन नए और पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण और ग्रामीण कमर्शियल वाहनों की खरीद बिक्री फाइनेंसिंग और बीमा का डिजिटल मार्केटप्लेस है। कृषि क्षेत्र में मैकेनाइजेशन बढ़ने के बावजूद भारतीय किसान जब वाहन खरीदने जाते हैं तो उन्हें सूचनाओं की कमी, ऊंची कीमत तथा सहज ट्रांजैक्शन के लिए भरोसेमंद स्रोत की कमी का सामना करना पड़ता है। डीलर्स को भी अपने ग्राहकों तक पहुंचने, पुराने वाहनों की उचित कीमत तय करने तथा इन्वेंटरी खाली करने में संघर्ष करना पड़ता है। ट्रैक्टर जंक्शन कृषि मशीनरी पर जरूरी सूचनाएं और समीक्षा उपलब्ध कराने के अलावा यूजर्स को विभिन्न विकल्पों में तुलना करने और कीमतों में पारदर्शिता लाने में मदद करता है।

नोएडा स्थित ट्रैक्टर जंक्शन की स्थापना 2019 में अनिमेष अग्रवाल, रजत गुप्ता और शिवानी गुप्ता ने की थी। अनिमेष ने आईआईएम शिलांग से पढ़ाई की है। वे पहले कार्स 24 के उत्तर भारत के ऑपरेशंस के प्रमुख थे। वे महिंद्रा फार्म इक्विपमेंट बिजनेस में भी काम कर चुके हैं। रजत गुप्ता दूसरी पीढ़ी के ट्रैक्टर प्रोफेशनल हैं। वे पहले महिंद्रा ट्रैक्टर डीलरशिप चलाते थे। राजस्थान के अलवर में उन्होंने शिवानी गुप्ता के साथ मिलकर ट्रैक्टर जंक्शन की अवधारणा तैयार की थी।

बीते 2 वर्षों में ट्रैक्टर जंक्शन का सालाना रेवेन्यू 7 गुना बढ़ा है। यह ऑपरेशनल प्रॉफिट में है। दिसंबर 2021 में ट्रैक्टर जंक्शन ने दूसरे सबसे बड़े फार्म मशीनरी पोर्टल ट्रैक्टर गुरु का अधिग्रहण किया था और अपनी स्थिति मजबूत की थी। बीते 12 महीने में ट्रैक्टर जंक्शन पोर्टल पर तीन करोड़ यूनिक विजिटर आए तथा ग्रामीण भारत में इस ब्रांड को अच्छी पहचान मिली। ट्रैक्टर जंक्शन इस फंडिंग का इस्तेमाल नई प्रतिभाओं को जोड़ने, फाइनेंसियल सर्विसेज के विकास और उत्तर भारत में पुराने ट्रैक्टर के स्टोर खोलने में करेगी।