यूपी में भाजपा की सातवीं सूची में 91 नाम, 13 मंत्रियों को फिर से मिला टिकट

जाति के हिसाब से देखें तो अन्य पिछड़ा वर्ग के 23, अनुसूचित जाति के 22 और अगड़ी जातियों के 46 उम्मीदवार हैं। पार्टी अब तक 295 प्रत्याशियों का ऐलान कर चुकी है

यूपी में भाजपा की सातवीं सूची में 91 नाम, 13 मंत्रियों को फिर से मिला टिकट

भाजपा ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को अपने प्रत्याशियों की सातवीं सूची जारी की है। इस सूची में 91 प्रत्याशियों के नाम हैं, जिनमें 13 मंत्री हैं। जाति के हिसाब से देखें तो अन्य पिछड़ा वर्ग के 23, अनुसूचित जाति के 22 और अगड़ी जातियों के 46 उम्मीदवार हैं। पार्टी अब तक 295 प्रत्याशियों का ऐलान कर चुकी है।

प्रदेश के सहकारिता मामलों के मंत्री मुकुट बिहारी ‍वर्मा को टिकट नहीं दिया गया है, उनकी जगह उनके बेटे गौरव बहराइच की कैसरगंज सीट से लड़ेंगे। पार्टी ने अयोध्या के मौजूदा विधायक वेद प्रकाश गुप्ता को फिर से टिकट दिया है। उनका मुकाबला समाजवादी पार्टी के तेज नारायण से होगा, जिन्हें वे 2017 में हरा चुके हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी को देवरिया से टिकट दिया गया है। अखिलेश यादव के वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए भाजपा ने तीन यादवों को भी टिकट दिया है। रुदौली से रामचंद्र यादव, निजामाबाद से मनोज यादव, सिकंदरपुर से संजय यादव प्रत्याशी बनाए गए हैं।

इस सूची में नौ महिला प्रत्याशी हैं, जिनमें चार ब्राह्मण, चार अनुसूचित जाति और एक ठाकुर हैं। एक दिन पहले ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए प्रियंका गांधी के सलाहकार टीम के सदस्य और पूर्व सांसद राकेश सचान भोगनीपुर से लड़ेंगे। इस सूची में 17 मौजूदा विधायकों का टिकट काटा गया है। इनमें गोंडा की करनैलगंज विधानसभा सीट से अजय प्रताप सिंह उर्फ लल्ला भैया भी शामिल हैं। लल्ला भैया छह बार विधायक रह चुके हैं। बाहुबली राजा भैया के इलाके कुंडा से पार्टी ने सिंधुजा मिश्रा को टिकट दिया है।

टिकट पाने वाले मंत्रियों में इलाहाबाद पश्चिम से सिद्धार्थ नाथ सिंह, इलाहाबाद दक्षिण से नंद गोपाल गुप्ता, पाथरदेव से सूर्य प्रताप शाही, जगदीशपुर से सुरेश कुमार पासी, पट्टी से राजेंद्र प्रसाद, बलरामपुर से पलटूराम, मनकापुर से रमापति शास्ति, बंसी से जय प्रताप सिंह, खजनी से श्रीराम चौहान, रुद्रपुर से जयप्रकाश निषाद, फेहाना से उपेंद्र तिवारी, जौनपुर से गिरीश चंद्र यादव शामिल हैं।