फिनो बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट सखियों ने ग्रामीण उत्तर प्रदेश में बैंकिंग सुविधा बढ़ाई, 34 सखियां की गईं सम्मानित

उत्तर प्रदेश में लगभग 60,000 राजस्व गांव हैं और हर जगह पारंपरिक बैंक शाखा खोलना मुमकिन नहीं है। इसलिए घर-घर बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराने के लिए बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखी मॉडल अपनाया गया है। इससे ग्रामीण क्षेत्र की पढ़ी-लिखी महिलाओं को रोजगार भी मिलता है

फिनो बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट सखियों ने ग्रामीण उत्तर प्रदेश में बैंकिंग सुविधा बढ़ाई, 34 सखियां की गईं सम्मानित

बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखी प्रोजेक्ट के एक साल पूरे होने पर फिनो पेमेंट्स बैंक ने 34 बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखियों को सम्मानित किया है। इन महिला बैंकिंग एजेंटों ने ग्रामीण उत्तर प्रदेश में घर-घर बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराई है। लॉकडाउन के समय उत्तर प्रदेश में फिनो के 50,000 से अधिक मर्चेंट पॉइंट के साथ माइक्रो एटीएम से युक्त बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखियों ने दूरदराज के क्षेत्रों में भी अपनी सेवाएं दीं।

बिजनेस कॉरस्पॉडेंट खाताधारकों को जिस तरह की सेवाएं मुहैया कराते हैं उनमें नकद राशि, खासकर बुजुर्गों को और मनरेगा, प्रधानमंत्री किसान योजना जैसी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीमों के तहत मिलने वाली राशि उपलब्ध कराना शामिल है। उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (ग्रामीण विकास) मनोज कुमार सिंह ने बताया कि डीबीटी के माध्यम से हर साल ग्रामीण अर्थव्यवस्था में लगभग 75000 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए जाते हैं।

उत्तर प्रदेश में लगभग 60,000 राजस्व गांव हैं और हर जगह पारंपरिक बैंक शाखा खोलना मुमकिन नहीं है। इसलिए घर-घर बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराने के लिए बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखी मॉडल अपनाया गया है। इससे ग्रामीण क्षेत्र की पढ़ी-लिखी महिलाओं को रोजगार भी मिलता है।

फिनो पेमेंट्स बैंक के सीईओ मेजर आशीष आहूजा ने बताया, लगभग 860000 केंद्रों के जरिए समस्त भारत में डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क उपलब्ध कराना हमारी मजबूती है। इनके जरिए हम ग्राहकों को कई तरह की बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराते हैं। बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखियां हमारे इस प्रयास में पूरक का काम करती हैं। उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत फिनो ने अभी तक 11 जिलों में 4700 महिलाओं को रोजगार दिया है। हालांकि उसे स्वयं सहायता समूह की 10000 महिलाओं को सखी नियुक्त करना है।

फिनो पेमेंट्स बैंक के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट अमित कुमार जैन ने बताया, बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखियां 4700 ग्राम पंचायतों में हर महीने लगभग 50 करोड़ का लेनदेन कर रही हैं। यह काफी उत्साहजनक है। जल्दी ही हम 5000 और सखियों को जोड़ेंगे ताकि ग्रामीण इलाकों में भी लोगों को डिजिटल बैंकिंग के करीब लाया जा सके।

फिनो प्वाइंट और बिजनेस कॉरस्पॉडेंट सखियों के माध्यम से लोग पैसे जमा करने, निकालने, ट्रांसफर करने जैसी नियमित सेवाओं के अलावा स्वास्थ्य बीमा, जीवन बीमा और वाहन बीमा भी खरीद सकते हैं। ग्राहक इनके माध्यम से बिजली तथा अन्य यूटिलिटी बिल, बीमा प्रीमियम और लोन की ईएमआई का भी भुगतान कर सकते हैं।