स्टार्टअप कंपनी करात फार्म्स ने प्री-सीड फंडिंग जुटाई

करात फार्म्स ने अपने व्यापार तेजी से वृद्धि लाने के लिए वृक्ष इंपैक्ट पार्टनर्स (वीआईपी) से अघोषित प्री-सीड फंडिंग जुटाई है। जिससे इस निवेश किए फंड से अधिक से अधिक ग्राहको तक पहुंच बना सके और अपने उत्पाद के अच्छा बनाने के लिए योजना बना रही हैं। इस कंपनी का उद्देश्य एक स्थायी भविष्य बनाना है। जहां पर पौधे आधारित जीवन के माध्यम से प्रकृति के साथ सामंजस्य स्थापित कर सके

स्टार्टअप कंपनी करात फार्म्स ने प्री-सीड फंडिंग जुटाई

बैंगलोर

 बैंगलोर से संचालित होने वाली स्मार्ट किचन गार्डन की कंपनी  करात फार्म्स ने अपने व्यापार तेजी से वृद्धि लाने के लिए वृक्ष इंपैक्ट पार्टनर्स (वीआईपी) से अघोषित प्री-सीड फंडिंग जुटाई है। जिससे इस निवेश किए फंड से अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुंच बना सके  और अपने उत्पाद के अच्छा बनाने के लिए योजना बना रही हैं। इस कंपनी का उद्देश्य एक स्थायी भविष्य बनाना है। जहां पर पौधे आधारित जीवन के माध्यम से प्रकृति के साथ सामंजस्य स्थापित कर सके ।करात फार्म्स को एनएसआरसीईएल में इनक्यूबेट किया गया था जो आईआईएम बैंगलोर द्वारा संचालित भारत में एक अग्रणी स्टार्टअप इनक्यूबेशन सेंटर है।  लाकडाउन के दौरान संस्थापक और निवेशक एक दूसरे से जुड़े और  फंड को इकठ्ठा किया उन्होंने इस  फंड को इकट्ठा करने  की प्रक्रिया को दूर से संचालित ही  किया।

कंपनी का कहना है कि ,करात फ़ार्म का उत्पति लोगों को फिर से दोबारा कैसे  शक्ति  दी जाय इस उद्देश्य से हुआ था।  घर  में एक किचन गार्डन से हमारे भोजन से  जुड़ने के साथ, ही हमें पोषण,मानसिक स्वास्थ्य, और प्रकृति जुड़ने में जबरदस्त प्रभाव डालते है और  मिली इस  फंडिग से करात जो अभी सीड फंडिंग रूप में है इससे अपने आप को पेड़ रूप विकसित करेगा।

वीआईपी के सह-संस्थापक और निदेशक प्रेरणा गोयल ने कहा की इस फंडिंग का उपयोग करात फार्म अपना राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क को बढ़ाने  और अपनी पहचान बनाने के लिए करेगें । और दुनिया भर से बिषय विशेषज्ञो से संपर्क करके करात फार्म की सहायता करेगें । उन्होंने कहा कि  हमारा ध्यान प्रभावी निर्माण और हम सभी सौदों में एक मजबूत स्थिरता पर ध्यान केंद्रित करना है।

करात फार्म्स का विजन है  किचन गार्डनिंग के कानसेप्ट को लोगों तक पहुंचना और यह सुनिश्चित करना की इसको घर घर में अपनाया जाय ।  इस तरह के दृष्टिकोण और विचारों  को भारतीय उपमहाद्वीप में आगे बढ़ाने के लिए वीआईपी ने प्लांट-आधारित व्यवसायों को बड़े पैमाने पर विस्तार करने लिए रणनीतिक दिशा निर्धारण, संचालन, वित्तीय प्रबंधन, भोजन, पोषण और स्वास्थ्य में विशेषज्ञो को जोड़कर अपने विजन को मजबूती दे रहा है ।

करात फार्म्स के सह-संस्थापक कुरैशी यूसुफ ने कहा कि एनएसआरसीईएल में इनक्यूबेशन प्रोग्राम ने हमें करात फार्म के पीछे की कहानी को प्रभावी ढंग से व्यक्त करने में मदद की और फंड जुटाना और निवेशकों को इस विचार और इसकी क्षमता के बारे में उत्साहित करना आसान बना दिया। इसने हमें रणनीति बनाने, बजट और प्रतिभा को काम पर रखने की स्पष्टता दी है । हम आशा करते है कि इनक्यूबेशन के बाद, हम प्रतिभा को आकर्षित करना जारी रखे सकेंगे, अपने उपयोगकर्ताओं के लिए एक सहज उत्पाद का निर्माण करेंगे और अपने मूल्य प्रस्ताव पर ध्यान केंद्रित करते रहेंगे।