नेफेड ने प्याज की अधिक उत्पादकता वाली किस्म का बीज लांच किया

नेशनल एग्रीकल्चरल को-आपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (नेफेड) ने प्याज की अधिक उत्पादकता वाली किस्म (एचवाईवी) का बीज विकसित किया है। फेडरेशन ने इस बीज की इस किस्म का विकास महाराष्ट्र के 600 किसानों के साथ चलाए गये एक बीज उत्पादन प्रोग्राम तहत किया है।

नेफेड ने प्याज की अधिक उत्पादकता वाली किस्म का बीज लांच किया

नेशनल एग्रीकल्चरल को-आपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (नेफेड) ने प्याज की अधिक उत्पादकता वाली किस्म (एचवाईवी) का बीज विकसित किया है। फेडरेशन ने इस बीज की इस किस्म का विकास महाराष्ट्र के 600 किसानों के साथ चलाए गये एक बीज उत्पादन प्रोग्राम तहत किया है। फेडरेशन ने बीज की इस किस्म को बाजार में लांच कर दिया है।

नेफेड के मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव कुमार चड्ढा प्याज की इस उच्च उत्पादकता वाली किस्म के बीज की लांचिंग की। नेफेड द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। नेफेड का कहना है कि सरकार ने उसे 2500 क्विंटल बीज के उत्पादन का लक्ष्य दिया था। नेफेड द्वारा प्याज की उच्च उत्पादकता वाली किस्म के बीज का वितरण राज्य सरकारों, सहकारी समितियों और फारमर प्राड्यूसर आर्गनाइजेशंस (एफपीओ) के जरिये किसानों को किया जाएगा। प्याज की यह किस्म जहां अधिक उत्पादकता वाली है वहीं इसके जरिये प्याज का उत्पादन भी अधिक किफायती है। इसकी यह दोनों खासियत किसानों की आय वृद्दि में सहायक साबित होंगी।

नेफेड का कहना है कि वह बीज उत्पादन के अपने प्रोग्राम को नेफेड ब्रांड के तहत विस्तार देने की योजना पर काम कर रही है। इन बीजों के जरिये किसानों को आय को दोगुना करने के प्रधानमंत्री के लक्ष्य को हासिल करने में मदद मिलेगी क्योंकि इसके किसानों का उत्पादन बढ़ेगा और लागत कम होगी। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के बरेली में 28 फरवरी, 2016 को एक रैली को संबोधित करते हुए घोषणा की थी कि सरकार छह साल में किसानों की आमदनी को दोगुना करेगी। इसके लिए सरकार ने कई कार्यक्रम चलाए हैं वहीं कृषि मंत्रालय द्वारा एक समिति भी गठित की गई थी जिसकी रिपोर्ट में किसानों की आय दो गुना करने के लिए जरूरी उपायों के सुझाव दिये गये हैं।