2021-22 में बागवानी उत्पादन 70 लाख टन बढ़ने का अनुमान, फल-सब्जियां दोनों के उत्पादन में बढ़ोतरी

फलों का उत्पादन 2020-21 में 10.248 करोड़ टन की तुलना में 10.710 करोड़ टन होने का अनुमान है। 2020-21 में 20.045 करोड टन की तुलना में सब्जियों का उत्पादन 20.461 करोड़ टन होने का अनुमान है

2021-22 में बागवानी उत्पादन 70 लाख टन बढ़ने का अनुमान, फल-सब्जियां दोनों के उत्पादन में बढ़ोतरी

देश में बागवानी फसलों के क्षेत्रफल और उत्पादन में वृद्धि हुई है। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के आंकड़ों के अनुसार 2020-21 की तुलना में लगभग 70.03 लाख टन ज्यादा उत्पादन का अनुमान है। साल 2021-22 में कुल बागवानी उत्पादन 34 करोड़ 63 लाख टन होने का अनुमान है। बागवानी का क्षेत्रफल साल 2021-22 में 2 करोड 77 लाख 38 हजार हेक्टेयर रहा जबकि साल 2020-21 में 2 करोड़ 74 लाख 76 हजार हेक्टेयर था। फलों के क्षेत्रफल में 1.28 फीसदी औऱ सब्जी के क्षेत्रफल में 3.8 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है जबकि फूल, मसाले और औषधि के क्षेत्रफल में गिरावट होने का अनुमान है।

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि सरकार की नीतियों, बागवानी के किसानों की अथक मेहनत और हमारे कुशल वैज्ञानिकों के योगदान से रिकॉर्ड उत्पादन हो रहा है। तोमर ने इसके लिए किसानों को बधाई भी दी।

फलों का उत्पादन 2020-21 में 10.248 करोड़ टन की तुलना में 10.710 करोड़ टन होने का अनुमान है। 2020-21 में 20.045 करोड टन की तुलना में सब्जियों का उत्पादन 20.461 करोड़ टन होने का अनुमान है। राज्यों से प्राप्त जानकारी के आधार पर तैयार दूसरे अग्रिम अनुमान में पिछले साल की तुलना में फलों, सब्जियों और शहद के उत्पादन में वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया गया है।

इसी तरह, 2020-21 में 2.664 करोड़ टन के मुकाबले प्याज का उत्पादन 3.170 करोड़ टन होने का अनुमान है। आलू का उत्पादन 2020-21 के 5.617 करोड़ टन की तुलना में 5.358 करोड़ टन होने की उम्मीद है। टमाटर का उत्पादन 2020-21 में 2.118 करोड़ टन की तुलना में 2.034 करोड़ टन होने की उम्मीद है।